Tuesday, June 25, 2024
Google search engine
Homeचित्रकूटChitrakoot :पीएम ने चित्रकूट के मंदाकिनी घाट उन्नयन एवं विकास कार्य का...

Chitrakoot :पीएम ने चित्रकूट के मंदाकिनी घाट उन्नयन एवं विकास कार्य का किया वर्चुअली शिलान्यास

सतना,मध्यप्रदेश।। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार को जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से पूरे देश में स्वदेश दर्शन 2.0 के तहत 30 परियोजनाओं और प्रसाद योजनाओं में तीन परियोजनाओं की शुरूआत की। प्रधानमंत्री श्री मोदी ने वर्चुअली रूप से स्वदेश दर्शन योजना 2.0 के तहत सतना जिले के चित्रकूट में 26 करोड़ 55 लाख रूपये की लागत से बनने वाले मध्यप्रदेश के चित्रकूट घाट अध्यात्म का अनुभव योजना की लांचिग की।

सतना टाइम्स
सतना टाइम्स डॉट इन

इस अवसर पर सुरेन्द्र पाल मैदान उद्यमिता परिसर चित्रकूट में आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने की। कार्यक्रम में पर्यटन धर्मस्व एवं संस्कृति राज्यमंत्री धर्मेन्द्र सिंह लोधी, पशुपालन एवं डेयरी विभाग राज्यमंत्री श्री लखन पटेल, नगरीय विकास एवं आवास राज्यमंत्री प्रतिमा बागरी, सांसद गणेश सिंह एवं विधायक सुरेन्द्र सिंह गहरवार भी उपस्थित थे।पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार की स्वदेश दर्शन योजना 2.0 के अंतर्गत चित्रकूट में आध्यात्मिकता के विशिष्ट अनुभव हेतु मां मंदाकिनी (गंगा) के घाटों के उन्नयन एवं विकास के कार्य का भूमिपूजन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वर्चुअल रूप से किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि चित्रकूट की पवित्र धरती पर प्रभु श्री राम को अपने वनवास के साढ़े 11 साल के दौरान अपने जीवन का उत्कर्ष और मर्यादा पुरूषोत्तम बनने का अवसर प्राप्त हुआ। हमें अपनी सनातन संस्कृति पर गर्व है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रभु श्रीराम और कृष्ण से संबंधित क्षेत्र को समाहित कर अपनी सनातन संस्कृति का पोषण किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 21वीं शताब्दीं भारत की होगी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वदेश दर्शन योजना 2.0 और प्रसाद योजना के तहत ग्वालियर, चित्रकूट और पीताम्बर पीठ दतिया, अमरकंटक में धार्मिक तीर्थ स्थलों के विकास की सौगात दी है। उन्होंने कहा कि चित्रकूट में 27 करोड़ रूपये की लागत से भरत घाट, राघव प्रयाग घाट, विश्राम घाट का कायाकल्प किया जायेगा। इससे लगभग 200 नाविक केवट परिवारों को लाभ होगा। उन्होंने बताया कि इसी प्रकार ग्वालियर में 16 करोड़ 72 लाख रूपये से ग्वालियर में फूलबाग क्षेत्र का विकास किया जायेगा। पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार की प्रसाद योजना के तहत अमरकंटक और पीताम्बर पीठ दतिया के विकास के लिए 25-25 करोड़ रूपये के कार्य कराये जायेंगे।

 मुख्यमंत्री डॉ यादव ने इस अवसर पर कहा कि चित्रकूट क्षेत्र दो राज्यों में बंटा होने के फलस्वरूप निर्माण कार्यों में कठिनाई होती है। इसलिए चित्रकूट के अन्तर प्रदेशीय समग्र विकास और नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्र के समन्वय कर समग्र चित्रकूट के विकास के लिए चित्रकूट विकास प्राधिकरण बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि अनुविभागीय अधिकारी राजस्व का कार्यालय चित्रकूट में पृथक से स्थापित किया जायेगा। इसी प्रकार गुप्त गोदावरी से पर्यटन टूरिस्ट बंगला तक चित्रकूट की प्रमुख सड़क को फोरलेन बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि परिक्रमा पथ गुप्त गोदावरी, सती अनुसुईया, भरत घाट सहित चित्रकूट के प्रमुख धार्मिक स्थलों को अतिक्रमण से मुक्त कराया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि देव स्थानों के विकास को लेकर मंत्री मण्डलीय समिति भी बनाई जायेगी। जो ग्रामीण और नगरीय क्षेत्र का समन्वय करेगी। इनमें राजस्व, धर्मस्व सहित अन्य विभाग भी जोड़े जायेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि देव स्थानों के उपयोग में आने वाली सभी पूजा की सामग्री और वस्त्र श्रंगार मध्यप्रदेश में ही बनाई जाये। इसके लिए कुटीर उद्योग और ग्रामोद्योग को बढ़ावा दिया जायेगा। कार्यक्रम में सांसद गणेश सिंह ने कहा कि स्वदेश दर्शन योजना 2.0 के तहत प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी देश के विभिन्न धार्मिक स्थलों को विकास की सौगात देकर धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि चित्रकूट क्षेत्र को स्वदेश दर्शन योजना 2.0 में शामिल करने से धार्मिक स्थल चित्रकूट का सर्वागीण विकास होगा। विधायक चित्रकूट सुरेन्द्र सिंह गहरवार ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि चित्रकूट से भगवान राम मर्यादा पुरूषोत्तम बने हैं। प्रभु श्रीराम के आदर्श और संस्कार व्यापक रूप से देश दुनिया तक पहुंचे। इसके लिए चित्रकूट को भी अयोध्या की तरह विकसित किया जाये। इस मौके पर पूर्व सांसद प्रभात झा, महापौर योगेश ताम्रकार, जिला पंचायत अध्यक्ष रामखेलावन कोल, उपाध्यक्ष श्रीमती सुस्मिता सिंह, अध्यक्ष नगर पंचायत साधना पटेल, डीआरआई के संगठन सचिव अभय महाजन, जिला अध्यक्ष सतीश शर्मा, कुल गुरू चित्रकूट ग्रामोद्योग विश्वविद्यालय डॉ. भरत मिश्रा, कलेक्टर अनुराग वर्मा, पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता भी उपस्थित थे।

139 करोड़ से अधिक लागत के 18 कार्यों का हुआ लोकार्पण और भूमिपूजन

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की अध्यक्षता में सुरेन्द्र पाल उद्यामिता परिसर चित्रकूट में गुरूवार को आयोजित हुए कार्यक्रम में स्वदेश दर्शन योजना 2.0 के तहत 26 करोड़ 55 लाख रूपये लागत के मां मंदाकिनी गंगा के घाटों के उन्नयन एवं विकास कार्य सहित सतना जिले के कुल 139 करोड़ 29 लाख रूपये लागत के 18 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया गया। इनमें 33 करोड़ 13 लाख रूपये लागत के 14 विकास कार्यों का लोकार्पण और 106 करोड़ 16 लाख रूपये लागत के 4 कार्यों का शिलान्यास शामिल है। शिलान्यास किये गये कार्यों में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पर्यटन विभाग के स्वदेश दर्शन योजना 2.0 के तहत 26 करोड़ 55 लाख रूपये लागत के मां मंदाकिनी घाटों का उन्नयन विकास का वर्चुअली रूप से भूमिपूजन किया। इसके अलावा मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने 112 करोड 45 लाख रूपये लागत के शेष कार्य का शिलापट्टि का अनावरण कर भूमिपूजन शिलान्यास किया। इनमें नगर परिषद चित्रकूट के अंतर्गत 41 करोड़ 56 लाख रूपये लागत के मोहकम गढ़ तिराहे से पीली कोठी तक चित्रकूट की मुख्य मार्ग निर्माण कार्य और चित्रकूट निकाय अंतर्गत छूटे हुए स्थानों में 3 करोड़ 95 लाख रूपये लागत के स्ट्रीट लाइट एवं पोल स्थापना कार्य तथा 34 करोड़ 10 लाख रूपये लागत के स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत बनने वाले शासकीय उ0मा0वि0 बगहा के सीएम राइज स्कूल भवन का निर्माण कार्य शामिल है।

JAYDEV VISHWAKARMA
JAYDEV VISHWAKARMAhttps://satnatimes.in/
पत्रकारिता में 4 साल से कार्यरत। सामाजिक सरोकार, सकारात्मक मुद्दों, राजनीतिक, स्वास्थ्य व आमजन से जुड़े विषयों पर खबर लिखने का अनुभव। Founder & Ceo - Satna Times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments