Tuesday, June 25, 2024
Google search engine
Homeमध्यप्रदेशRewa News :रीवा में खुले बोरवेल में गिरा 6 साल का मासूम...

Rewa News :रीवा में खुले बोरवेल में गिरा 6 साल का मासूम मयंक, रेस्क्यू में जुटा जिला प्रशासन

रीवा,मध्यप्रदेश।।मध्य प्रदेश के रीवा(rewa news) जिले में खुले पड़े बोरवेल में एक 6 वर्षीय मासूम खेलते-खेलते गिर पड़ा। मामले की सूचना मिलने के बाद स्थानीय लोगों ने इस बात की जानकारी पुलिस को दी। जिसके बाद रेस्क्यू के लिए प्रशासन की टीम मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू कर दिए। बच्चे को बाहर निकालने के लिए फिलहाल जेसीबी की मदद से गड्ढे को खोदा जा रहा है।

रीवा में खुले बोरवेल में गिरा 6 साल का मासूम मयंक. रेस्क्यू में जुटा जिला प्रशासन

सीएमओ के द्वारा आक्सीजन की व्यवस्था भी की गई है। बच्चे को बचाने के पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। गड्ढा खोदकर बच्चे तक पहुंचने के भी प्रयास किए जा रहे हैं।

बारिश होने से रेस्क्यू ऑपरेशन में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बोरवेल के गड्‌ढे को तिरपाल से ढंक दिया गया है। साथ ही बोरवेल के आसपास बारिश का पानी जमा नहीं हो इसके प्रयास भी किया जा रहे हैं।

मामला जनेह थाना क्षेत्र के मनिका गांव का है। बच्चे का मयूर उर्फ मयंक (6) पिता विजय आदिवासी है। शुक्रवार शाम करीब 4:30 बजे वह खेत में बच्चों के साथ खेल रहा था। इसी दौरान खेत में ही खुले पड़े बोरवेल के गड्ढे में गिर गया।

जानकारी मुताबिक बोरवेल के इस गड्ढे की गहराई करीब 140 फीट है। बच्चा कितनी गहराई पर फंसा है। अभी इसका पता नहीं चल पाया है। ये भी बताया जा रहा है कि बच्चा अंदर हलचल कर रहा है। गड्ढे में कैमरा डालकर बच्चे की गतिविधि की निगरानी की जा रही है।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार दोपहर वो खेत में खेल रहा था। इसी दौरान वो गड्ढे के पास गया और उसमें गिर गया। बोरवेल में गिरे मयंक के पिता विजय कुमार आदिवासी और उसकी मां दोनों ही मजदूरी का कार्य करते हैं। मयंक का एक छोटा भाई और बहन भी है।

मामले की सूचना मिलते ही त्योंथर विधायक सिद्धार्थ तिवारी, कलेक्टर प्रतिभा पाल और एसपी विवेक सिंह भी मौके पर पहुंचे हैं। उन्होंने रेस्क्यू का जायजा लिया और अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए।

JAYDEV VISHWAKARMA
JAYDEV VISHWAKARMAhttps://satnatimes.in/
पत्रकारिता में 4 साल से कार्यरत। सामाजिक सरोकार, सकारात्मक मुद्दों, राजनीतिक, स्वास्थ्य व आमजन से जुड़े विषयों पर खबर लिखने का अनुभव। Founder & Ceo - Satna Times
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments