Tuesday, June 25, 2024
Google search engine
HomeभोपालKuno से आ रही बड़ी खबर, मादा चीता गामिनी ने दिया पांच...

Kuno से आ रही बड़ी खबर, मादा चीता गामिनी ने दिया पांच शावकों को जन्म, देखिये Video

Kuno: मध्य प्रदेश के कूनो राष्ट्रीय उद्यान से बड़ी खुशखबरी आई है. यहां दक्षिण अफ्रीका से लाई गई एक मादा चीता ने पांच शावकों को जन्म दिया है. गामिनी नाम की मादा चीता ने 5 शावकों को जन्म दिया है. बता दें, इससे भारत में जन्मे शावकों की संख्या अब बढ़कर 13 हो गई है. यह भारतीय धरती पर चौथा चीता वंश है और दक्षिण अफ्रीका से लाया गया चीता का पहला वंश है. नन्हें चीतों की जन्म की जानकारी केंद्रीय वन मंत्री भूपेंद्र यादव ने सोशल मीडिया मंच एक्स पर पोस्ट दी. उन्होंने साथ ही चीता गामिनी और उसके शावकों की तस्वीरें भी शेयर की हैं.

सतना टाइम्स
सतना टाइम्स डॉट इन

कूनो में 26 हो गई शावकों की संख्या

अपने पोस्ट में मंत्री भूपेंद्र यादव ने लिखा कि दक्षिण अफ्रीका के त्वालु कालाहारी रिजर्व से लाई गई मादा चीता गामिनी जिसकी उम्र करीब  5 साल है उसने आज यानी रविवार को पांच शावकों को जन्म दिया है. इससे भारत में जन्मे शावकों की संख्या 13 हो गई है. यह भारतीय धरती पर चौथा चीता वंश है और दक्षिण अफ्रीका से लाया गया चीता का पहला वंश है. उन्होंने सभी को बधाई दी है, विशेषकर वन अधिकारियों, पशु चिकित्सकों और फील्ड स्टाफ की टीम को, जिन्होंने चीतों के लिए तनाव मुक्त वातावरण सुनिश्चित किया है. इसी के साथ अब कूनो राष्ट्रीय उद्यान में शावकों सहित चीतों की कुल संख्या 26 हो गई है.

गौरतलब है कि महत्वाकांक्षी चीता पुनः परिचय परियोजना के तहत करीब दो साल पहले यानी 17 सितंबर 2022 को आठ नामीबियाई चीतों को कूनो राष्ट्रीय उद्यान में बाड़ों में छोड़ा गया था, जिनमें पांच मादा और तीन नर चीते थे. इसके बाद फरवरी 2023 में अन्य 12 चीतों को दक्षिण अफ्रीका से उस उद्यान में लाया गया. गामिनी दक्षिण अफ्रीका से लाए गए चीतों में शामिल है. गामिनी के पांच शावकों को मिलाकर अब कूनों में चीतों की संख्या बढ़कर 26 हो गई है

सतना टाइम्स न्यूज डेस्क
सतना टाइम्स न्यूज डेस्कhttps://satnatimes.in/
हमारी नजर में आम आदमी की आवाज जब होती है बेअसर तभी बनती है बड़ी खबर। पूरब हो या पश्चिम, उत्तर हो या दक्षिण सियासत का गलियारा हो या गांव गलियों का चौबारा हो. सारी दिशाओं की हर बड़ी खबर, खबर के पीछे की खबर और एक्सक्लूसिव विश्लेषण का ठिकाना है satnatimes.in सटीक सूचना के साथ उसके सभी आयामों से अवगत कराना ही हमारा लक्ष्य है। Satna Times को आप फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, यूट्यूब पर भी देख सकते है। Contact Us – info@satnatimes.in Email - satnatimes1@gmail.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments